Connect with us
#Bewafa Shayari Hindi Shayari Photo Sad Shayari

जो कभी मेरी उदासी की वजह पूछा करता था,
अब उसको मेरे रोने से भी फर्क नहीं पढ़ता।,  
वो पथ्थर कहाँ मिलेंगे दोस्तों,
जिसे लोग दिल पर रख कर,
एक दूसरे को भूल जाते हैं।